my tukbandi

हम स्वर्णिम पन्नों पर लिखा नहीं करते, हम लिखकर पन्नों को स्वर्णिम बना दिया करते हैं।

A Hindi Poem tells that Her Face is like Moon † तेरे चेहरे का चांद...



तेरे चेहरे का चांद
और
मेरे दिल का समन्दर,

और फिर...

कभी ज्वार,
कभी भाटा.


-Rajendra Nehra



दोस्तों! अगर कविता पसंद आई हो तो 'my tukbandi' को facebook पर like जरूर कीजियेगा: